एमपी में अवैध वसूली गुंडागर्दी के खिलाफ स्टेट हाईवे पर ट्रक चालकों ने लगाया जाम.. पीएम से कार्रवाई की मांग..

जाम में फंसी एंबुलेंस बमुश्किल निकल पाई..
 
जाम
देश के कोने से लेकर दूसरे कोने तक दिन-रात मालवाहक चलाकर आवश्यकता का सामान पहुंचाने वाले ट्रक चालकों के साथ मध्यप्रदेश में चेकिंग के नाम पर जगह-जगह सौतेला व्यवहार किया जाता है। जिस से आहत ट्रक चालकों ने देर रात सड़क पर वाहन खड़े करके जाम लगा दिया..

दमोह जिले के सागर जबलपुर बाईपास की यह तस्वीरें रात 11-12 बजे के बीच की है। जब आरटीओ द्वारा कुछ लोगों के साथ की जा रही जबरिया चेकिंग के दौरान ट्रक चालकों से अवैध वसूली के नाम पर एक से ₹2000 की मांग की गई लेकिन कागजात पूरे होने की वजह से ट्रक चालक रुपए नहीं देने पर अड़ गए जिस पर एक ट्रक चालक से गाली गलौज बदतमीजी तथा दूसरे से कथित तौर पर मारपीट कर दी गई और ₹10000 के जुर्माने को देने कहा गया। 

इस दौरान RTO के साथ के लोगों की मनमानी गुंडागर्दी देख कर चेकिंग कराने के लिए खड़े अन्य ट्रक चालकों का गुस्सा भड़क उठा तथा उन्होंने स्टेट हाईवे बाईपास पर जो वाहन जहां खड़ा था उसे वही खड़ा करके जाम लगा दिया 2 घंटे से अधिक कर चले जाम की वजह से जहां अफरा तफरी के हालात निर्मित हो गए वही दोनों तरफ वाहनों की कतारें लग गई। जानकारी लगने पर मीडिया कर्मी मौके पर पहुंचे और इस दौरान ट्रक चालकों का दर्द फूट पड़ा। ट्रक चालकों का कहना था कि वह अपने परिवार की चिंता किए बिना रात दिन गाड़ी चला कर बिना खाए पिए जरूरत का सामान देश के एक हिस्से से दूसरे में पहुंचाते हैं।

गाड़ी के टैक्स से लेकर मेंटेनेंस खराब सड़क पर होने वाले नुकसान परवाह किए बिना काम करते हैं इसके बावजूद सभी कागजात कंप्लीट होने पर भी मध्यप्रदेश में जगह-जगह कागजात चेकिंग के नाम पर रोक कर पुलिस तथा आरटीओ द्वारा जबरन परेशान किया जाता है अवैध रकम की मांग की जाती है नहीं दिए जाने पर मनमाना जुर्माना और बदतमीजी मारपीट तक की जाती है जिसको लेकर ट्रक चालक मीडिया के जरिए प्रधानमंत्री मोदी से ट्रक चालकों के लिए बिना रोक-टोक की नीति बनाए जाने की मांग तथा अपील करते नजर आए। 

ट्रक चालकों की एकता तथा जाम के हालात देखकर आरटीओ की टीम मौके से जहां कुछ ही देर बाद चलती बनी वही मीडिया के जरिए जानकारी लगने पर जबलपुर नाका पुलिस मौके पर पहुंची। तथा उसके द्वारा जाम में फंसी एंबुलेंस व अन्य वाहनों को निकलवाने के साथ ट्रक चालकों से बातचीत की गई तथा उनकी बात उच्चाधिकारियों तक पहुंचाए जाने का आश्वासन दिया इसके बाद ही रात 12:00 बजे के बाद आवागमन बहाल हो सका।

उल्लेखनीय है कि पिछले दिनों सागर एनएच पर इसी तरह की अवैध वसूली की शिकायत मिलने पर ट्रक चालकों द्वारा लगाए गए जाम की जानकारी मिलने पर परिवहन मंत्री गोविंद राजपूत द्वारा त्वरित कार्रवाई करते हुए उड़नदस्ता की एक उप निरीक्षक और आरक्षक को भोपाल अटैच कर दिया गया था देखना होगा इस मामले में आरटीवी तथा उनकी टीम के खिलाफ कोई एक्शन लिया जाता है अथवा नहीं.. अभिषेक जैन की रिपोर्ट

From Around the web