पन्ना टाइगर रिजर्व मड़ियादो बफर जोन से फसल चट करने आई नीलगाय.. किसान के लगाए फंदे में फंसी.. बचाव हेतु रेस्क्यू..

फंदे से छूटते ही फिर जंगल में भागी नीलगाय..
 
नीलगाय
मप्र के पन्ना टाइगर रिजर्व क्षेत्र व दमोह जिले के मड़ियादो बफर जोन चीते हिरण बाघ तेंदुआ नीलगाय सहित अन्य वन्यजीवों की अठखेलियां नजर आती रहती हैं वही फसलों को चट करने नीलगाय व हिरण के झुंड खेतों में पहुंचते रहते है। जिन से बचाव के लिए किसानों को तार फेंसिंग के अलावा तार के फंदे भी खेतों में डालना पढ़ते हैं। 

दमोह जिले के मड़ियादो क्षेत्र में ऐसे ही कुछ हालात के बीच एक नील गाय का पिछला पैर तार के फंदे में फस गया। जिसकी जानकारी लगने पर वन विभाग के कर्मचारी ने मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों की मदद से रेस्क्यू करके नीलगाय के पैर को फंदे से मुक्त कराया और इसके बाद नीलगाय के सरपट भागते हुए जंगल में गायब होने में देर नहीं लगी इस पूरे घटनाक्रम की लाइव वीडियो भी ग्रामीणों द्वारा बनाकर वायरल कर दी गई है जिसे लोग अब सोशल मीडिया पर चटकारे लेकर देख रहे हैं।

यह तस्वीरें दमोह जिले के हटा अनुभाग अंतर्गत मडियादो थाने के कनकपुरा गांव के हरदु ढांढा क्षेत्र की है। जहाँ देर शाम एक नीलगाय फसल सुरक्षा के लिए लगाए गए तार के फंदे में फंस गई। जिसकी सूचना ग्रामीणों द्वारा पन्ना टाइगर रिजर्व बफर जोन मडियादो के कर्मचारियों को दिए जाने के बाद वह मौके पर पहुंचे और बाद में बड़ी मशक्कत के बाद  वन कर्मी ने ग्रामीणों की मदद से रेस्क्यू कर नीलगाय के पैर को फंदे से मुक्त कराया। मुक्त होते ही नीलगाय ने जंगल की ओर सरपट दौड़ लगा दी।

नीलगाय पर शिकंजा

 गौरतलब है पन्ना टाइगर रिजर्व मडियादो बफर जोन के जंगल अंतर्गत आने वाले इन क्षेत्रों में बड़ी संख्या में नीलगाय और वन्य जीव रहवासी इलाकों में प्रवेश करते हैं किसानों द्वारा फसल सुरक्षा के लिए तार फेंसिंग की व्यवस्था की जाती है कई बार जानवर इनमें फस जाते हैं..

From Around the web