किसानों के साथ कांग्रेस विधायक हर्ष यादव का अनोखा प्रदर्शन.. गले मे लहसुन की माला, सिर पर प्याज की बोरी रखकर SDM कार्यालय पहुॅचे..

सीएम और कृषि मंत्री के लिए लहसुन प्याज की बोरी भेंट
 
pyaj
केन्द्रीय खाद्य प्रंसस्करण उद्योग एवं जल शक्ति राज्यमंत्री श्री प्रहलाद सिंह पटेल के निर्वाचन क्षेत्र अंतर्गत आने वाले देवरी विधानसभा क्षेत्र में आज लहसुन प्याज उत्पाद किसानों के कांग्रेस विधायक ओर पूर्व मंत्री हर्ष यादव ने अनूठा विरोध प्रदर्शन किया।  गले में लहसुन की माला तथा सिर पर प्याज की बोरी रखकर एसडीएम आफिस पहुचकर जहां राष्ट्रपति महोदय के नाम 8 सूत्रीय मांगो का ज्ञापन सौपा गया वहीं मुख्यमंत्री व कृषि मंत्री को भेंट करने के लिए लहसुन प्याज की बोरियां सौपी गई..
 
दरअसल देवरी विधानसभा क्षेत्र में सबसे ज्यादा लहसुन,प्याज के उत्पादक किसान है लेकिन भाव न मिलने से बदहाली की कगार पर पहुंचे किसान, भावन्तर देने और समर्थन मूल्य पर लहसुन प्याज खरीदेने की किसानों की मांग किसानों द्वारा लगातार की जा रही है लेकिन मप्र सरकार द्वारा इस पर कोई ध्यान नहीं दिया जा रहा है। जिसके चलते आज लहसुन प्याज उत्पादक कृषकों ने क्षेत्रीय विधायक हर्ष यादव के नेतृत्व में देवरी नगर की मुख्य सड़कों पर जमकर प्रदर्शन किया। कार्यक्रम की शुरुआत  ह्रदय स्थल नगरपालिका चौराहा से हुई जहॉ पर क्षेत्र के सभी कृषक ए​कत्रित हुए। इसके उपरान्त रैली निकालकर SDM कार्यालय देवरी पहुॅच जमकर प्रदर्शन किया। साथ ही प्रदेश के मुखिया शिवराजसिंह चोहान एवं कृषि मंत्री कमल पटैल को एक—एक लहसुन की बोरी भेट की। प्रदर्शन के बाद क्षेत्रीय विधायक हर्ष यादव ने उपस्थित समस्त किसानों के साथ राष्ट्रपति के नाम SDM देवरी को 8 सूत्रीय ज्ञापन पत्र सौपा। 

gyapan

ज्ञापन अन्तर्गत उल्लेख है कि सागर जिले की विधानसभा क्षेत्र देवरी में सबसे ज्यादा लहसुन-प्याज उत्पादक कृषक है, जिन्होंने इस वर्ष 2022 में अच्छे उत्पादन को लेकर बहुत ज्यादा लागत लगाकर लहसुन प्याज की फसल बोयी हुई थी, किन्तु इस वर्ष उक्त फसलों का उचित मूल्य किसानों को प्राप्त नहीं हो रहा है, कोरोना सकटकाल एवं प्राकृतिक आपदा के कारण विगत 3-4 वर्षों से क्षेत्र का अन्नदाता आर्थिक रूप से बेहद परेशान है फसलों का उचित दाम न मिलने, उत्पादित फसलों को सरकार द्वारा समर्थन मूल्य पर न खरीदने सहित विभिन्न समस्याओं के संदर्भ में समस्त क्षेत्रवासियों द्वारा निम्न बिन्दुवार मांग की हैं
1. प्रदेश के सागर जिले में सबसे ज्यादा देवरी में लहसुन प्याज के उत्पादक कृषक है, जिन्होंने इस वर्ष 2022 में उक्त फसल के अच्छे उत्पादन को लेकर जमा पूंजी को व्यय कर अच्छा उत्पादन किया है, किन्तु बाजार भाव ठीक न होने से किसानों को बेहद नुकसान हुआ है, प्रदेश सरकार लहसुन-प्याज फसल को समर्थन मूल्य पर खरीदने की प्रक्रिया सुनिश्चित करें। 2. लहसुन-प्याज उत्पादक कृषकों को अन्य वर्षों की अपेक्षा इस वर्ष अत्याधिक लागत लगाकर फसल का उत्पादन करना पड़ा है, जैसे 30 हजार रुपए प्रति एकड़ बीज की उपलब्धता, डीजल/पेट्रोल की मूल्यवृद्धि मजदूरी (फसल लगवाई, निदाई-गुडाई इत्यादि मजदूरी), खाद, बारदाना अन्य सभी आवश्यक वस्तुओं की कीमत पिछले वर्षों की अपेक्षा डबल है। बढ़ती हुई महगाई/लागत को ध्यान में रखते हुए 50 हजार रुपए प्रति एकड़ भावान्तर की राशि किसानों को दी जाए।

pradarshan

3. लहसुन-प्याज उत्पादक कृषकों को अपनी फसल विक्रय के निर्यात खोले जाए। 4. सागर जिले के देवरी विधानसभा क्षेत्र में सबसे ज्यादा लहसुन प्याज उत्पादक कृषक है, जिन्हें उद्यानिकी विभाग के माध्यम से लहसुन-प्याज भण्डारण केन्द्र निर्माण के सब्सिडी आधार लक्ष्य ज्यादा से ज्यादा प्रदाय किए जाए। 4. सागर जिले के देवरी विधानसभा क्षेत्र में सबसे ज्यादा लहसुन, प्याज, टमाटर, मिर्ची, आलू सहित अन्य उद्यानिकी फसलों के उत्पादक कृषक है, जिन्हें लाभ पहुंचाने हेतु क्षेत्र में छूट प्रोसेसिंग यूनिट स्थापित की जाए। 5. क्षेत्र में लगातार पम्प फीडर/घरेलू फीडर बंद कर विद्युत कटौती की जा रही है, जिससे ग्रामीण दोनों में गूंग उड़द फसलों की सिंचाई एवं बच्चों की पढ़ाई प्रभावित हो रही है। विद्युत कटौती पर तत्काल रोक लगाई जाए। 6. पेट्रोलियम पदार्थों व खाद्य पदार्थों की लगातार मूल्य वृद्धि से आमनागरीक बेहद परेशान है। आमनागरिकों के हितो को ध्यान में रखते हुए मूल्य वृद्धि वापिस ली जाए।
7. ग्रीष्मकाल के दौरान ग्रामीण क्षेत्रों में बेहद नीषण पेयजल संकट उत्पन्न हो चुका है, लगातार जलस्तर गिरने से ग्रामीण क्षेत्रों में संचालित हैण्डपम्प व नलजल योजनाएं बंद होती जा रहे है। संबंधित विभाग प्रमुख एवं स्थानीय जनपद पंचायत देवरी / केसली द्वारा पेयजल संकट को ध्यान में रखते हुए कोई आवश्यक प्रभावी कदम अभी तक नहीं उठाए है। क्षेत्र में पेयजल संकट को ध्यान में रखते हुए, नवीन नलकूप खनन कराने, बद योजनाओं को शीघ्र चालू कराने की कार्यवाही त्वरित की जाए। 8. सागर जिले के देवरी विधानसभा क्षेत्र में सबसे ज्यादा लहसुन—प्याज उत्पादक कृषक है, जिन्हे उद्यानिकी विभाग के माध्यम से लहसुन—प्याज भण्डारण केन्द्र निर्माण के सब्सिडी आधार लक्ष्य ज्यादा से ज्यादा प्रदाय किए जाए। उपरोक्त मांगो का शीघ्र निराकरण किया जायें नही तो आगामी समय में क्षेत्रीय किसानों के साथ भूख हडताल व उग्र आंदोलन करने की चेतावनी दी गई है। देवरी से त्रिवेंद्र जाट की रिपोर्ट

From Around the web