मैडम को सट्टा की मंथली राशि जबरन बसूलना महंगा पड़ा.. लोकायुक्त ने 29 हजार की रिश्वत लेते टीआई को रंगे हाथों पकड़ा..

रिश्वतखोर टीआई उज्जैन लोकायुक्त के शिकंजे में..
 
risvt
मध्यप्रदेश में रिश्वतखोरी का दंश महिला कर्मचारियों तक भी तेजी से फैलता जा रहा है ताजा मामला एक महिला टीआई के रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़े जाने का सामने आया है। रिश्वत की रकम सट्टा खिलाने के बदले में लिए जाने वाली मंथली राशि बताई जा रही है जिसको लेते हुए महिला निरीक्षक को उज्जैन लोकायुक्त की महिला टीम में रंगे हाथों पकड़ने के बाद भ्रष्टाचार अधिनियम की धाराओं के तहत कार्यवाही की है..
प्राप्त जानकारी के अनुसार 25 अप्रैल को डीएसपी राजकुमार सराफ के नेतृत्व में उज्जैन लोकायुक्त टीम ने आगर मालवा जिले के कानड़ थाना प्रभारी मुन्नी परिहार को ₹29000 की रिश्वत लेते हुए रंगे हाथों पकड़कर कार्यवाही की है। दरअसल रितेश राठोर निवासी कानड ज़िला आगर मालवा ने 11 अप्रैल 2022 को उज्जैन लोकायुक्त एसपी अनिल विश्वकर्मा को दिए लिखित आवेदन में शिकायत की थी कि थाना प्रभारी कानड़ मुन्नी परिहार उस से दबाव बनाकर सट्टा चलाने का कह रही है। ओर इस के लिए हर महीने 20 हज़ार रुपए रिश्वत की माँग कर रही है। बातचीत के दौरान थाना मुन्नी परिहार थाना प्रभारी कानड़ द्वारा आवेदक से पिछले महीने के बाक़ी 9 हज़ार ओर चालू महीने के बीस हज़ार रुपए के हिसाब से कुल 29 हज़ार की माँग की गयी थी।

lokayukt

आवेदक के अनुसार उसको क़ोरोना लॉकडाउन में गल्ले के व्यापार में नुक़सान होने से उसने वर्ष 2021 में सट्टा चलाया था उसका टीआई मुन्नी परिहार हर महीने 20 हज़ार रुपए लेती थी। अब सट्टा नहीं खिलाना चाहता लेकिन TI मैडम दबाव बनाकर सट्टा चलवा रही हे ओर रिश्वत के रूप में हर महीने 20 हज़ार रुपए माँग रही है। आवेदक की शिकायत पर कार्यवाही करते हुए 25 अप्रैल को DSP श्री राजकुमार शराफ़ के नेतृत्व में टीम का का गठन कर ट्रैप कार्यवाही की गई। जिसमे DSP सुनील तालान, TI राजेंद्र वर्मा आरक्षक संजय पटेल, सुनील परसाई, नीरज राठोर व इसरार द्वारा थाना कानड़ ज़िला आगर मालवा में आवेदक से 29 हज़ार रुपए की रिश्वत लेते हुए TI मुन्नी परिहार मैडम को रंगे हाथों पकड़ा गया है..

From Around the web