सागर जोन पुलिस की कॉम्बिंग गस्त में.. एक ही दिन में 741 से अधिक स्थाई/ वारंटी गिरफ्तार.. दमोह में 31 पन्ना में 29 स्थायी वारंटी पकड़े

योजना बनाकर पकड़े दसों वर्ष के फरार आरोपी
 
पुलिस
फरार अपराधियों आरोपियों वारंटियों की धरपकड़ हेतु पुलिस महानिरीक्षक सागर श्री अनुराग द्वारा सागर जोन के जिलों में लंबे समय से फरार इनामी आरोपियों की गिरफ्तारी हेतु योजना बनाकर 1 दिन का विशेष अभियान चलाया गया। जिसमें 23-24 अप्रैल की मध्य रात्रि में सागर जोन के सभी 6 जिलो के पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक जोन के समस्त अनुविभागीय अधिकारी पुलिस के नेतृत्व में समस्त थाना प्रभारियों की टीम बनाकर जिले के अधिकतम बल को उक्त अभियान में लगाया गया..

  

कॉम्बिंग गस्त एवं अपराधियों की सर्चिंग पुलिस महानिरीक्षक सागर श्री अनुराग एंव उपपुलिस महा निरीक्षक श्री विवेक राज द्वारा स्‍वयं अपने निर्देशन में उक्त कार्य मे लगे सभी पुलिस अधिकारियों की ब्रीफिंग करके सभी जिलों में पुलिस अधीक्षक के निर्देशित किया गया। 

जोन

पुलिस अधीक्षक सागर श्री तरुण नायक, पुलिस अधीक्षक दमोह डी0 आर तेनीवार,पुलिस अधीक्षक छतरपुर सचिन शर्मा, पुलिस अधीक्षक पन्ना धर्मराज मीणा, पुलिस अधीक्षक टीकमगढ़ प्रशांत खरे और पुलिस अधीक्षक निवाड़ी तुषार विद्यार्थी ने अलग-अलग टीमें बनाकर सभी अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, अनुविभागीय पुलिस पदाधिकारी/ नगर पुलिस अधीक्षक और थाना प्रभारियों को विस्तृत कार्य योजना बनाते हुए लक्ष्य दिए गए। 

जिसमें रात्रि में ही आरोपियों के छिपे होने के संभावित स्थानों पर दविश दी गई, जिसमें पूरे सागर जोन के 6 जिलों में कुल 213 स्थाई वारंटीयों को गिरफ्तार करने में सफलता मिली। इनमें 10 वर्ष से अधिक के 39 स्थाई वारंटी एवं 73 गिरफ्तार स्थाई वारंटी 5–10 साल से फरार थे। इसके अतिरिक्त अभियान में 1021 समन तामील कराए गए। अभियान के दौरान 611 जमानती वारंट  और 528 गिरफ्तारी वारंट तामील किए गए।

पन्ना

 इसी दौरान भारतीय दण्ड संहिता के 173(8) और 299 में वांछित 52 अपराधियों को पकड़ा गया। जिला बदर का पालन ना करने वाले 6 और संपत्ति संबंधी अपराधो में वांछित 08 अपराधी भी पकड़े गए। अभियान के दौरान 397 हिस्ट्रीशीटर , 92 जेल रिहाई , 602 गुंडा बदमाश , 106 इनामी और 25 जिला बदर को भी चेक किया गया। 

संपूर्ण जोन की सक्रियता के कारण अभियान में आर्म्स एक्ट में 20, आबकारी अधिनियम में 83 प्रकरण कायम किये गये। पूरे अभियान में 185 इनामी अपराधियों को पकड़ा गया। अभियान की सफलता पर पुलिस महानिरीक्षक श्री अनुराग द्वारा जोन के सभी पुलिस अधीक्षक, अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक, उप पुलिस अधीक्षक, थाना प्रभारी, एवं अभियान में शामिल अन्य अधिकारी और पुलिस बल को बधाई दी गई ।

 पन्ना जिले कॉम्बिंग गस्त मे 160 से अधिक गिरफ्तार
पुलिस अधीक्षक पन्ना श्री धर्मराज मीना के मार्गदर्शन में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक पन्ना श्रीमती आरती सिंह, अनुविभागीय अधिकारी पन्ना पवई गुनौर अजयगढ़ के नेतृत्व में सभी थाना प्रभारियों की अलग-अलग टीमें बनाई जाकर थाना प्रभारियों को विस्तृत कार्य योजना बनाते हुए लक्ष्य दिए गए, जिसमें अपराधियो/बदमाशों के छिपे होने के संभावित स्थानों पर दविश दी गई, जिसमे जिले मे कुल 29 स्थाई वारन्टियों को गिरफ्तार करने मे सफलता मिली। इनमें से 10 वर्ष से फरार 03 स्थाई वारंटी एवं 89 गिरफ्तारी वारंटी गिरफ्तार किए गए । इसके अतिरिक्त अभियान में 158 जमानतीय वारन्ट एवं 322 समंस भी तामील कराए गए । 

पुलिस

इसी दौरान जा.फौ. के 173(8) एवं 299  एवं अन्य मे वांछित 42 बदमाशों को पकड़ा गया, जिसमे से जिला बदर का पालन ना करने वाले 01 और संपत्ति संबंधी अपराधो में वांछित 02 अपराधी  एवं 08 इनामी बदमाश भी पकड़े गए । अभियान के दौरान 55 हिस्ट्रीशीटर , 02 जेल रिहाई , 75 गुंडा बदमाश , और 04 जिला बदर को भी चेक किया गया। पन्ना पुलिस की सक्रियता के कारण अभियान में आर्म्स एक्ट में 03, आबकारी अधिनियम में 08 प्रकरण कायम किये गये ।

 

दमोह जिले में 31 स्थाई वारंट तामील किए गए..

सागर आई जी की निर्देशन में चलाए गए काम्बिंग गश्त अभियान के तहत दमोह जिले में पुलिस की विशेष सक्रियता देखने को मिली। इस दौरान एसपी डीआर तेनिवार एवं एएसपी शिवकुमार सिंह के निर्देशन में सीएसपी अभिषेक तिवारी, एसडीओपी हटा वीरेंद्र बहादुर सिंह, पथरिया आरपी रावत एवं तेंदूखेड़ा अशोक चौरसिया की मार्गदर्शन में विभिन्न थाना पुलिस द्वारा 31 स्थाई वारंटो की तालीम की गई। 

वारंट

दमोह कोतवाली टीआई सतेंद्र सिंह राजपूत द्वारा सबसे अधिक आठ स्थाई वारंटी तालीम किये गए। वही पथरिया थाना प्रभारी रजनी शुक्ला के द्वारा पांच स्थाई वारंट तामील किए गए। कुल 31 स्थाई वारंट तामीली में तीन वारंट दस साल से अधिक के थे। पांच से दस साल के बीच के दस तथा पांच साल से कम के 18 वारंट तामील किये गए। 

इसके अलावा 15 गिरफ्तारी, 28 जमानती वारंट तथा 59 समंस तामील किए गए। 299 के तीन तथा गंभीर अपराध में फरार चार आरोपियों को पकड़ा गया। माइनर एक्ट के नौ मामलों में कार्रवाई की। सभी थानों में निगरानी सुदा व हिस्ट्रीशीटर बदमाश, जेल रिहाई, गुंडों आदि की चेकिंग भी की गई।

From Around the web