देश के सबसे गंदे शहर में शुमार सिटी को अब देश में 72 प्रदेश में 13 वी रैंक.. इधर ONGC केंप से 4 नए कोरोना मरीज मिले..

कलेक्टर प्रशासक एवं सीएमओ ने दी बधाई
 
72 vi renk
कुछ वर्ष पहले देश के सबसे गंदे शहर घोषित किए गए दमोह नगरपालिका क्षेत्र को एक बार भी स्वच्छता के मामले में अंडर 100 में जगह बनाने में सफलता प्राप्त हुई है। इधर ONGC केंप से नए केस सामने आने से एक्टिव केस हुए अब आठ हो गए है..

दमोह। कुछ वर्ष पहले देश के सबसे गंदे शहर घोषित किए गए दमोह नगरपालिका क्षेत्र को एक बार भी स्वच्छता के मामले में अंडर हंडैªड में जगह बनाने में सफलता प्राप्त हुई है। केंद्र सरकार ने स्वच्छता सर्वेक्षण 2021 की रैंकिंग के परिणाम आज शनिवार को घोषित कर दिए हैं। दमोह नगर पालिका को ऑल इंडिया में 72 वी रैंक प्राप्त हुई है। जबकि मप्र में 13 वी रेंक प्राप्त हुई है। इसमें पूरे देश के नगर निगम, नगर पालिका परिषद और नगर परिषद इसमें हिस्सा लेती हैं।

उपरोक्त उपलब्धि पर कलेक्टर एवंनगरपालिका प्रशासक एस कृष्ण चैतन्य ने संतोष जताते हुए कहां कि यह अच्छा सुधार है आगे यह प्रयास किया जाएगा कि दमोह ऑल इंडिया में टॉप 20 में शामिल हो। पूर्व सीएमओ निशिकांत शुक्ला ने इस पर प्रसन्नता व्यक्त करते हुए नगर पालिका की पूरी सफाई विभाग टीम को बधाई दी है। इसके अलावा शहर के लोगों द्वारा जो फीडबैक दिए गए उससे भी नगर पालिका की रैंकिंग में अच्छा सुधार हुआ है।
ओएनजीसी केंप से चार नए केस, एक्टिव केस हुए आठ..

दमोह। बंगाल से हटा आए ओएनजीसी कर्मी के साथ आए कोरोना का असर बरकरार है। ओएनजीसी केंप के मजदूरों की आज आई  सेंपल रिपोर्ट में चार नए केस सामने आने से एक्टिव केस हुए अब आठ हो गए है। हटा क्षेत्र के यह सभी मरीज पूर्व में आये पॉजिटिव मरीज के प्राथमिक कॉटेक्ट में आये थे। यह जानकारी मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डाँ संगीता त्रिवेदी ने देते हुए बताया कि ओएनजीसी के सभी कर्मचारियों का सैम्पलिंग की जा रही हैं।

From Around the web