नाबालिक को शादी का झांसा देकर गुजरात मे रेप करने वाला गिरफ्तार इधर महाराष्ट्र में बंधक पन्ना सतना के मजदूर मुक्त..

साइबर सेल की मदद से पुलिस ने किया गिरफ्तार
 
पन्ना
पन्ना जिले के थाना गुनौर क्षेत्र से डेढ़ माह पूर्व एक नाबालिग को लड़की को बहला फुसलाकर भगा ले जाने वाले आरोपी को पुलिस ने आखिरकार सूरत गुजरात से गिरफ्तार करके उसके चुंगल से लड़की को मुक्त करा कर परिजनों के सुपुर्द करने में सफलता हासिल की है।

पन्ना एसपी धर्मराज मीणा के निर्देशन में थाना प्रभारी गुनौर एपी सिंह बघेल व टीम द्वारा पुलिस सायबर सेल की मदद से अपहृता को सूरत (गुजरात) से दस्तयाव किया है। जिसे गुनौर लाकर माता पिता के सुपुर्द किया गया। पुलिस टीम द्वारा लड़की से पूँछताछ कर कथन लेख किये गये, जिसमें बताया कि घटना दिनांक 4 अक्टूबर 2021 को थाना गुनौर क्षेत्र का ही एक अभियुक्त उसे शादी करने का झाँसा देकर बस मैं बैठाकर सतना एवं सतना से ट्रेन में बैठाकर सूरत गुजरात ले गया था। जहाँ उसने लगातार अपहृता के साथ शारीरिक शोषण किया है ।

फरियादिया के कथनो के आधार पर मामले में आरोपी के विरूद्ध बलात्कार संबंधी धाराओं को बढ़ाया गया है। 23 दिसंबर 2021 को प्रकरण के आरोपी को न्यायालय पन्ना में पेश किया गया जहा से जेल भेज दिया गया। संपूर्ण कार्यवाही में थाना प्रभारी गुनौर उपनिरी. ए.पी. सिंह बघेल, सउनि शिवराम नायक, सउनि महेश तिवारी, प्र.आर. मनीष कश्यप, सायबर सेल पन्ना से प्र.आर. नीरज रैकवार, राहुल सिंह बघेल, आर. आशीष अवस्थी, धर्मेन्द्र सिंह राजावत, राहुल पाण्डेय एवं थाना गुनौर से आर. घनश्याम पटेल, रणधीर सिंह दांगी, मुकेश कुमार, म.आर. ज्योति गुप्ता, चा.आर. बृजेश घोषी का सराहनीय योगदान रहा ।

पन्ना के मजदूरों को महाराष्ट्र से मुक्त कराया गया

पन्ना। महाराष्ट्र बंधुआ बनाकर कम मजदूरी में पन्ना के मजदूरों से काम कराए जाने का मामला सामने आने के बाद धर्मराज मीणा और कलेक्टर की पहल पर सभी मजदूरों को महाराष्ट्र से सुरक्षित पन्ना लाया जा रहा है।

मुक्त

मामले में एसपी धर्मराज मीणा ने महाराष्ट्र के परभणी के एसपी जयंत कुमार से चर्चा कर हालात से अवगत कराया था। वही पन्ना से एसआई राम सजीवन तिवारी तथा आरक्षक आशीष यादव, श्रम निरीक्षक भूपेंद्र बंजारे की टीम गठित कर महाराष्ट्र भेजा गया था। इस टीम ने परभणी पहुंचकर वहां मौजूद श्रमिकों से फोन से संपर्क किया। वही परभणी जिले की साइबर सेल की टीम तथा स्थानीय पुलिस की टीम मौके पर भेजी गई। जिस स्थान पर मजदूर काम कर रहे थे वहां के मालिक से चर्चा कर आपस में समझौता करवाया तथा मजदूरों को पुनः वापस घर लौटने के लिए व्यवस्था की गई है।

मजदूर

पन्ना जिले से भेजी गई टीम ने वहां के जिला कलेक्टर तथा जिला पुलिस अधीक्षक से चर्चा कर इन श्रमिकों का मेडिकल परीक्षण भी कराया तथा उन्हें रास्ते में लगातार भोजन और पानी भी प्रदान किया। स्थानीय प्रशासन ने सभी व्यक्तियों को मल्टीविटामिन ,बिस्किट ,पानी आदि व्यवस्था की। इन सभी श्रमिकों में पन्ना जिले के बच्चे, महिला तथा पुरुष सहित कुल 15 व्यक्ति तथा सतना जिले के बच्चे महिला तथा पुरुष सहित कुल 16 व्यक्ति महाराष्ट्र के पूर्णा जिले से ट्रेन में बैठ कर आज रवाना हो रहे हैं जो कल सतना जिले के रेलवे स्टेशन तक पहुंचेंगे। इनके साथ में पन्ना की टीम भी है।

From Around the web