बद्रीनाथ जी मंदिर के कपाट बंद होने के साथ चार धाम यात्रा संपन्न.. पहाड़ो पर बर्फबारी शुरू, अब 6 माह बाद खुलेंगे कपाट..

चार हजार से अधिक श्रद्धालु जन रहे मौजूद..
 
बद्रीनाथ जी के कपाट बंद
 पवित्र बद्रीनाथ मंदिर के कपाट बंद होने के साथ इस वर्ष की चार धाम यात्रा संपन्न हो गई है वही पहाड़ो पर बर्फ बारी भी शुरू हो जाने से शीत लहर का असर बढ़ने लगा है। अब 6 माह बाद अगले वर्ष मई में पूरे विधि विधान के साथ बद्रीनाथ जी के कपाट खोले जाएंगे।

उत्तराखंड में चार धाम यात्रा के मुख्य धाम बद्री नाथ जी मंदिर के कपाट शनिवार शाम को विधि विधान के साथ पूजा एवं धार्मिक अनुष्ठान उपरांत बंद कर दिए गए। पुजारी रावल ईश्वरी प्रसाद नंबूदिरी द्वारा सभी धार्मिक अनुष्ठान संपन्न किए जाने के बाद शाम पौने सात बजे  मंदिर जी के कपाट बंद किए गए।

बद्रीनाथ

इस अवसर पर मंदिर परिसर में चार हजार से अधिक श्रद्धालुओ की मौजूदगी रही। इस वर्ष करीब दो लाख तीर्थयात्रियों ने बद्रीनाथ पहुचकर दर्शन किए। इस वर्ष यात्रियों की संख्या कम रहने की वजह कोविड-19 प्रोटोकाल के चलते चार धाम यात्रा का सितंबर मास में प्रारंभ होना रहा।

उल्लेखनीय है कि उत्तराखंड के चारधामों में से केदारनाथ, गंगोत्री और यमुनोत्री मंदिर के कपाट पहले ही बंद किए जा चुके हैं। अब बद्रीनाथ मंदिर के कपाट भी बंद होने के साथ इस वर्ष की चारधाम यात्रा का भी समापन हो गया। अब श्रद्धालु जनों को बद्री विशाल के दर्शन करने के लिए अगले 6 महीनों का इंतजार करना पड़ेगा

From Around the web