सिग्रामपुर के जंगल मे सांभर का शिकार.. रेंजर की गाड़ी को टक्कर मारने के बाद महाराष्ट्र पासिंग की कार को छोड़कर.. जंगल में भागे 3 शिकारियों का नहीं लगा कोई सुराग.. इधर सांभर के मास के साथ एक गिरफ्तार..

 

जंगल मे सांभर के मास के साथ एक गिरफ्तार..

दमोह। ठंड का असर बढ़ने के साथ जिले के जंगली क्षेत्र में शिकारियों की सरगर्मी बढ़ गई है पिछले दिनों करंट लगाकर एक भालू की हत्या करने के बाद उसके चारों पंजे काट कर ले जाने वाले शिकारियों का अभी तक कोई सुराग नहीं लग सका है। इधर सिग्रामपुर क्षेत्र में सांभर का शिकार यह जाने का घटनाक्रम सामने आया है हालांकि समय रहते सूचना मिल जाने पर सांभर के मांस के साथ एक शिकारी आजम खान को पकड़ लिया गया है वही तीन शिकारी मौका पाकर भागने में सफल हो गए।

 वन विभाग की टीम ने महाराष्ट्र पासिंग की उनकी गाड़ी को पकड़ने के बाद जंगल में उनकी तलाश शुरू कर दी है। सिग्रामपुर वन क्षेत्र मैं बीती रात वन बन्दूक के साथ शिकारियों की मौजूदगी की खबर के बाद अलर्ट हुई वन टीम ने जंगल से एक व्यक्ति को सांभर के मांस के साथ मांस काटने में प्रयुक्त धारदार हथियार सहित पकड़ा था। वही उसके तीन अन्य साथी कार से भागने में सफल हो गए। बाद में वन विभाग की टीम ने जंगल मे घेराबंदी करके कार को रोकने का प्रयास किया तो शिकारियों की गाड़ी ने पहले तो रेंजर की गाड़ी को टक्कर मारी तथा बाद में कार क्रमांक एमएच 04 एचएन2577 को छोड़कर दूसरी गाड़ी से जंगल में भाग गए।

सिग्रामपुर के जंगल मे सांभर का शिकार.. रेंजर की गाड़ी को टक्कर मारने के बाद महाराष्ट्र पासिंग की कार को छोड़कर.. जंगल में भागे 3 शिकारियों का नहीं लगा कोई सुराग.. इधर सांभर के मास के साथ एक गिरफ्तार..
सिग्रामपुर के जंगल मे सांभर का शिकार.. रेंजर की गाड़ी को टक्कर मारने के बाद महाराष्ट्र पासिंग की कार को छोड़कर.. जंगल में भागे 3 शिकारियों का नहीं लगा कोई सुराग.. इधर सांभर के मास के साथ एक गिरफ्तार..
रेंजर बीएस राजपूत ने बताया कि महाराष्ट्र पासिंग की इस गाड़ी के बारे में जबेरा तथा कटंगी पुलिस को सूचना देते हुए वन विभाग की टीम ने भी घेराबन्दी की थी। पुलिस ने गाड़ी को जप्त कर लिया है तथा शिकारियों की जंगल में तलाश कर रही है। शनिवार को घटनास्थल पर पहुंचे एसडीओ धीरेंद्र प्रताप सिंह ने बताया कि जल्द ही  शिकारियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा। सांभर के बाद के साथ पकड़े गए थे गाड़ी से पुलिस जांच करके उसके साथियों के बारे में भी पता लगाया जा रहा है।   इधर जबेरा थाना प्रभारी केके तिवारी एवं सिग्रामपुर चोकी पुलिस की टीम भी शनिवार को मौके पर पहुचकर जांच में जुटी रही।  वन विभाग की इस कार्यवाही में सिग्रामपुर रेंजर भगवान सिंह ठाकुर, डिप्टी रेंजर प्रवीण तिवारी, लाइक खान और उनकी टीम का विशेष योगदान रहा।  निवेश जैन के साथ  विशाल रजक की रिपोर्ट

From Around the web