नवनियुक्त चेयरमैन ओर भाजपा नेता राहुल सिंह का जगह-जगह जोरदार स्वागत.. राय चौराहे पर जूता की माला-स्याही फेंकने का प्रयास.. पुलिस ने दो युवकों को हिरासत में लिया.. सांसद प्रहलाद पटेल की फोटो लेकर भी पूर्व में प्रदर्शन कर चुका है एक युवक..

 

   राहुल सिंह पर जूता की माला और स्याही फेंकने का प्रयास..

दमोह। विधायक तथा कांग्रेस से इस्तीफा देने के ढाई महीने बाद मध्य प्रदेश वेयर हाउस कारपोरेशन के चेयरमैन बनाए गए भाजपा नेता राहुल सिंह के प्रथम नगर आगमन के मौके पर भोपाल से लेकर रायसेन सागर, गढ़ाकोटा, दमोह के रास्ते जगह-जगह जोरदार स्वागत किया गया वही दमोह के राय चैराहे के समीप दो युवकों के द्वारा उनके ऊपर स्याही और जूता चप्पल की माला फेंकने का प्रयास किया गया। जिनकों पुलिस ने हिरासत में लेने में देर नहीं कीै। पकड़े गए युवकों में से एक पूर्व में सांसद तथा केंद्रीय मंत्री प्रहलाद पटेल के खिलाफ भी प्रदर्शन कर चुका है।

 मध्य प्रदेश वेयर हाउस कारपोरेशन के चेयरमैन बनाए जाने के साथ कैबिनेट मंत्री का दर्जा प्राप्त पूर्व विधायक राहुल सिंह के प्रथम दमोह नगर आगमन के मौके पर सागर नाका टोल बैरियर से लेकर तीन गुल्ली स्टेशन चैराहा पर जोरदार स्वागत किया गया वही उनका स्वागत जुलूस काफिला जब राय चैराहे से आगे बढ़ा रहा था इसी दौरान हाथ में स्याही तथा जूता चप्पल की माला छिपाकर खड़े दो युवकों ने जलूस के बीच में घुसकर उनके ऊपर स्याही तथा जूतों की माला फेंकने की कोशिश की। लेकिन पुलिस के पहले से अलर्ट रहने की वजह से उनका यह प्रयास विफल हो गया। पुलिस ने इन दोनों युवकों को हिरासत में ले लिया है। लेकिन इसके बावजूद उपरोक्त आरोपी युवक नारे वाजी करने से नहीं चूके। दो युवकों में से एक जहां ओरछा का सुनील ठाकुर बताया गया है वही दूसरा युवक दृगपाल सिंह दमोह के दतला का निवासी है।

बताया जा रहा है कि दृगपाल सिंह लोधी समाज तथा पिछड़ा वर्ग संगठन के  युवा प्रदेश पदाधिकारी है  तथा पूर्व में भी भी व्यवस्थाओं के खिलाफ इस तरह के नारेबाजी प्रदर्शन करके चर्चाओं में रहा है। इस साल नवरात्र पर्व के समापन पर 25 अक्टूवर 2020 को देवी प्रतिमा पंडालों के बाहर के बाहर भी इसके द्वारा गले में तख्तियां डालकर तथा दमोह सांसद और केंद्रीय मंत्री पहलाद पटेल की तस्वीर लगा कर प्रदर्शन करते हुए ध्यान आकर्षित करने की कोशिश की थी।

सके पूर्व किसानों की खराब फसल मामले को लेकर किसान नेता बनकर हाथों में तख्तियां प्ले कार्यालय कलेक्ट्रेट के बाहर प्रदर्शन अधिक कर चुका है वही बेरोजगारी के मुद्दे को लेकर भी शहर के अंबेडकर चैक पर 20 Aug 2020 को आजादी आजादी बेरोजगारी से आजादी जैसे नारे लगाकर सभी का ध्यान आकर्षित करने की कोशिश करता रहा है। आज भी इसके द्वारा इंकलाब जिंदाबाद जैसे नारे पुलिस हिरासत में लिए जाने के बाद लगाए जाते रहे है।

 उल्लेखनीय है कि राहुल सिंह के दमोह नगर आगमन के पूर्व कांग्रेसी नेताओं द्वारा विरोध प्रदर्शन की चेतावनी दी गई थी वही काले झंडे दिखाने वह स्याही फेंकने जैसी तैयारियां की गई थी लेकिन जिलेभर की पुलिस को दमोह बुलाकर चैकसे व्यवस्था बना दिए जाने की वजह से कांग्रेसियों का प्रदर्शन जिला कांग्रेस कार्यालय के सामने राहुल सिंह का पुतला दहन और उनके बधाई फ्लेक्स पर कालिख छिड़कने तक सीमित हो गया था। वही बाद में पुलिस में  100 से अधिक कांग्रेस नेताओं को हिरासत में लेकर देहात थाने भेज दिया था। जहां उनके द्वारा बुंदेली गीतों की धुन पर राहुल के दलबदल को लेकर पैरोडी की जाती रही थी।

हालांकि कांग्रेसियों की गिरफ्तारी के बाद भी पुलिस एलर्ट थी क्योंकि कांग्रेस के कुछ पुतले बाज नेता पुलिस के हाथों नहीं लगे थे। लेकिन कांग्रेसियों की जगह यहां पर स्याही  और चप्पल की माला फेंकने की कोशिश प्रदर्शन करने वाला कोई और निकला पूरे प्रयास विफल हो जाने से पुलिस भी राहत की सांस लेती नजर आई।  अभिषेक जैन की रिपोर्ट

From Around the web