जटाशंकर कॉलोनी क्षेत्र से अगवा होते बची 3 साल की मासूम.. वार्ड वासियों ने आरोपी को पकड़ पुलिस के हवाले किया.. अब आरोपी को अर्ध विक्षिप्त बताकर.. कार्रवाई से पल्ला झाड़ने की कोशिश कर रही है कोतवाली पुलिस..

 

 जटाशंकर कॉलोनी क्षेत्र से अगवा होते बची मासूम..

 दमोह। शहर के जटाशंकर बीड़ी कॉलोनी मिलाकर इलाके से 3 वर्ष की मासूम बालिका को अगवा किए जाने की कोशिश का सनसनी खेज घटनाक्रम सामने आया है समय रहते स्थानीय लोगों द्वारा मासूम को अनजान व्यक्ति द्वारा जबरन ले जाने की स्थिति को देखकर उसे बचाकर आरोपी को पकड़  कर  कोतवाली  पुलिस के हवाले कर दिया गया। वही अब पुलिस उपरोक्त आरोपी को विक्षिप्त बता कर कार्यवाही से पल्ला झाड़ने की कोशिश कर रही है। ऐसे में सवाल यही उठता है कि यदि मासूम किसी अनहोनी का शिकार हो जाती तब भी पुलिस का जवाब यही रहता ?

 प्राप्त जानकारी के अनुसार जटाशंकर बीड़ी कालोनी के समीप सोमवार सुबह एक स्थानीय निवासी की 3 वर्षीय बालिका पड़ोस की किराना दुकान में टोस्ट लेने के लिए गई थी।  इस दौरान एक अनजान व्यक्ति ने उसे उठाकर   ले जाने लगा। तभी किराना दुकान वाले की नजर इस घटनाक्रम पर पड़ी तो उसने मासूम को छुड़ाते हुए शोर मचा दिया। जिसके बाद उपरोक्त अनजान व्यक्ति को पकड़ कर मासूम के परिजनों तथा  कोतवाली पुलिस को सूचना दे दी गई और बाद में पुलिस उसे अपने साथ पकड़कर कोतवाली ले गई।

बाद में जब इस घटना के संदर्भ में पुलिस द्वारा की गई कार्यवाही के संदर्भ में  कोतवाली टी आई एचआर पांडे से जानकारी चाही गई तो उनका कहना था उपरोक्त व्यक्ति मानसिक रूप से विक्षिप्त है तथा ऐसी कोई घटना नहीं हुई है। जबकि मोहल्ले के लोग और मासूम का पिता पूरी वारदात का खुलकर इजहार करते नजर आ रहे थे.. कुल मिला कर पुलिस अब इस मामले में जहां कार्रवाई करने से बचते हुए पल्ला झाड़ती नजर आ रही है वही सवाल यही उठता है यदि मासूम किसी अनहोनी की शिकार हो जाती तो तब भी टीआई साहब का जवाब यही होता ?

उल्लेखनीय है कि एक दिन पूर्व ही जबेरा क्षेत्र में  2 साल की मासूम बालिका को उसके दूर के रिश्ते दार द्वारा ज्यादती का शिकार बनाए जाने का घटनाक्रम सामने आ चुका है हालांकि इस मामले में आरोपी पकड़ा जा चुका है लेकिन इस वारदात खबर से स्थानीय नागरिकों द्वारा जागरूकता दिखाते हुए अनजान व्यक्ति के कब्जे से 3 साल की मासूम को बचाकर कहीं ना कहीं अनहोनी वारदात को टालने की कोशिश की गई है यह बात नकारी नहीं जा सकती भले ही पुलिस मामले में कार्रवाई करने से बचती ही क्यों ना रहे। अभिषेक जैन की रिपोर्ट

From Around the web