बांदकपुर मंदिर के पास अतिक्रमण को लेकर बागेश्वर महाराज का बड़ा बयान.. असाटी समाज की महिलाओं बच्चों का समर कैंप संपंन..

गजरथ फेरी से पंचकल्याणक महोत्सव का समापन..
 
bagheshvr
श्री बागेश्वर पीठाधीश्वर पूज्य पंडित श्री धीरेंद्र कृष्ण महाराज जी ने दमोह के कादीपुर में कथा महोत्सव के दौरान कहा श्री जागेश्वरनाथ धाम बांदकपुर मंदिर के पास अतिक्रमण है जिसको शीघ्र ही शासन प्रशासन को हटाना चाहिए ।श्री बागेश्वर महाराज ने कहा कि यह उनका अंतर्मन कर रहा है कि वहाँ अतिक्रमण है।श्री महाराज जी ने कहा कि इसके पहले भी बांदकपुर अतिक्रमण का विषय लगातार उनके सामने आ रहा है।
 इसके पहले भी हटा में हुई कथा आयोजन में महाराज श्री ने बांदकपुर धाम और माता रुक्मणी जी के विषय पर व्यासपीठ से संदेश दिया था और समस्त हिंदुओं को जागरूक होने व एकजुट होने के लिए आवाहन भी किया था।महाराज जी ने कहा कि भोलेनाथ जी के भक्तों की आस्था को ठेस न पहुंचे और उनको संकेत मिल रहे हैं कि शीघ्र ही बांदकपुर अतिक्रमण के विषय पर एक बड़ी क्रांति आने वाली है।
दमोह जिला प्रशासन स्थानीय राजनेता शीघ्र ही बांदकपुर अतिक्रमण के विषय पर संज्ञान लें। वही दमोह जिले के अनेक हिंदू संगठन, हिंदू समाज व क्षेत्रों के सभी लोगों के द्वारा निरंतर अतिक्रमण हटाओ मुहिम चलाई जा रही है जिसको दमोह जिले सहित आसपास के जिलों क्षेत्रों से भी लगातार समर्थन सहयोग मिल रहा है देखना है हिन्दू धर्म की आस्था के प्रमुख केंद्र बाबा श्री जागेश्वर नाथ जी की नगरी के विषय पर दमोह जिला प्रशासन व स्थानीय राजनेता कब तक मौन रहते हैं।दमोह के पत्रकार बंधुओं ने महाराज श्री के सामने बांदकपुर अतिक्रमण का विषय प्रमुखता से रखा। जिस पर भोले भक्तों ने पत्रकार बंधुओं को धन्यवाद आभार दिया।
गजरथ फेरी से पंचकल्याणक महोत्सव का समापन..
दमोह। जबेरा जनपद के चौपरा चोविसा में चल रहे पंचकल्याणक महोत्सव का भव्य समापन  गजरथ फेरी के साथ किया गया। इस अवसर पर आयोजित समारोह में सैकड़ों की संख्या में धर्म प्रेमी जनों में शामिल होकर धर्म लाभ अर्जित किया। गजरथ फेरी में सारथी बनने का सौभाग्य सचिन मोदी आयुष चौधरी सुरेंद्र जैन को प्राप्त हुआ गजरथ फेरी के दर्शनों के लिए हजारों की संख्या में जिले व आसपास क्षेत्र श्रद्धालु उपस्थित रही।
पूज्य मुनि श्री प्रबुद्ध सागर जी पंडाल से होकर गजरथ फेरी में पहुंचे और फेरिया शुरू हो गई सभी रथों में भगवान के माता-पिता विधि नायक, सौधर्म इंद्र, कुबेर, यज्ञ नायक, महायज्ञ नायक, ईशान आदि पूज्य मुनि श्री के सानिध्य में सात फेरियां संपन्न हुई। बाद में भगवान आदिनाथ का प्रथम अभिषेक किया गया। इसके बाद पंडाल में स्थापित गजरथ के कलश की बोलियां लगी जिसे श्रद्धालुओं ने दान राशि देकर खरीदा। 

neta ji

गजरथ महोत्सव में आज मुख्य रूप से जबेरा विधायक धर्मेंद्र सिंह लोधी पूर्व विधायक प्रताप सिंह लोधी सिद्धार्थ मलैया राजकुमार जैन राघवेंद्र सिंह जी भैया तिलक सिंह लोधी विनय मलैया जयकुमार जैन घटेरा शामिल हुए उन्होंने मुनि श्री को श्रीफल भेंट कर आशीर्वाद लिया। आयोजन समिति मीडिया प्रभारी निस्वार्थ सामाजिक संगठन प्रमुख सचिन मोदी ने बताया कि कार्यक्रम मैं हजारों की संख्या में अधिक लोगों ने भाग लिया है। अन्य क्षेत्र से प्रतिमा प्रतिष्ठित होने के बाद अपने-अपने क्षेत्र रवाना हो गई हैं वहीं स्थानीय मंदिरों में सात प्रतिमाएं सुबह मंदिर जी में विधि-विधान से स्थापना की जाएगी।

 असाटी समाज महिलाओं द्वारा समर कैंप आयोजित
दमोह। शहर के असाटी वार्ड 1 स्थित असाटी समाज संस्कार भवन में असाटी समाज महिलाओं द्वारा समर कैंप का तीन दिवसीय कार्यक्रम सफलतापूर्वक संपन्न हुआ। जिसमें बेटियों, बहनों द्वारा बैकरी क्लास, ड्राइंग व मेहंदी क्लास में बच्चों ने बढ-चढ कर हिस्सा लिया. असाटी समाज की महिलाओं के द्वारा दिए गए प्रशिक्षण में केक बनाने की विशेष विधी बताई गई। इस अवसर पर पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष मालती असाटी, पूर्व असाटी समाज महिला अध्यक्ष श्री मति नंदा असाटी, अध्यक्ष श्रीमती शैलजा सहित असाटी महिला समिति दमोह की पदाधिकारी और महिलाओं की उपस्थिति रही।

asati

समापन में पदाधिकारी महिलाओं  का स्वागत सत्कार बहुत अच्छे से किया। असाटी समाज महिला अध्यक्ष श्रीमती शैलजा असाटी ने जानकारी देते हुए बताया कि महिला समिति के द्वारा तीन दिवसीय कार्यशाला का आयोजन तीन प्रकार की प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया था, जिसमें मेहंदी, ड्राइंग और बेकरी सभी क्लास में महिलाएं बच्चे लड़कियां उपस्थित रहे। तरह-तरह के केक महिलाओं द्वारा सीखे ओर बनाये गए जिनकी उपस्थिति भी अधिक से अधिक रही। सभी ने एक से बढकर एक ड्राइंग बनाकर प्रस्तुति दी।

samman

लड़कियों ने बहुत सुंदर-सुंदर मेहंदी की डिजाइन बनाई और बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। सभी का प्रदर्शन बहुत बढ़िया था, समापन अवसर पर उन सभी का सम्मान भी किया गया, जिन्होंने ने प्रशिक्षण दिया है उनको मोमेंटो देकर सम्मानित किया गया, बच्चों को पेंसिल सेट प्रदान किए गए। सभी पदाधिकारियों का बहुत-बहुत आभार जिन्होंने तन-मन-धन से मेरा साथ दिया। समाज की सभी महिलाओं को बहुत-बहुत धन्यवाद जिन्होंने अपना कीमती वक्त मुझे दिया।
 

From Around the web