स्कूल बंद होने के वर्तमान परिदृश्य में.. आपका विद्यालय आपके द्वार हो रहा साकार.. बोर्ड को बाइक के साइड में बांधकर शिक्षक पूरे गांव का करते है भ्रमण.. जहां भी विद्यार्थी मिलते वही शुरू हो जाती है मुहल्ला क्लास..

 
आपका विद्यालय आपके द्वार हो रहा गांव में साकार.. 
दमोह। वर्तमान परिदृश्य में विद्यालय के बंद होने की स्थिति में सभी विद्यार्थियों का लगाव शिक्षा से बना रहे, अध्ययन की निरंतरता जारी रहे क्योकि विद्यालय जब भी नियमित रूप से खुलेंगे तो उसके आगे से ही अध्ययन कराया जाएगा इसके लिए विकासखंड बटियागढ़ के संकुल केंद्र मगरोन अंतर्गत शासकीय नवीन माध्यमिक शाला लिधौरा के शिक्षकों ने एक नायाब तरीका खोज निकाला है जिसमे शिक्षक मुहल्ला क्लास लगाने के उपरांत बोर्ड को मोटरसाइकिल के साइड में बांधकर पूरे गांव का भ्रमण करते है और जहां भी विद्यालय के बच्चे मिलते वही पर मोटरसाइकिल खड़ी करके लगे हुए बोर्ड पर बच्चों की डिजिलेप और दक्षता उन्नयन के साथ ही हिंदी, अंग्रेजी व गणित लेखन कार्य की पढ़ाई शुरू हो जाती है।   
 यह प्रक्रिया अपनाने से शिक्षकों को बड़ी सफलता भी मिली है इससे अधिक संख्या में विद्यार्थियों का शिक्षण हो पाता है और विद्यार्थी भी आनंद पूर्ण हिस्सा लेते है साथ अभिभाक भी पूरा सहयोग कर रहे है। इसके साथ साथ गांव के जागरूक युवा त्रिलोक, गणेश, हरीराम, बृज, नरपाल, शिवम, धर्मेंद्र भी अपने अपने मुहल्ले के बच्चों को शैक्षणिक कार्य मे निरंतर सहयोग कर रहे हैं। 
स्कूल बंद होने के वर्तमान परिदृश्य में.. आपका विद्यालय आपके द्वार हो रहा साकार.. बोर्ड को बाइक के साइड में बांधकर शिक्षक पूरे गांव का करते है भ्रमण.. जहां भी विद्यार्थी मिलते वही शुरू हो जाती है मुहल्ला क्लास..
इसके साथ साथ मुहल्ला क्लास का आयोजन भी समय सारणी अनुसार अनवरत रूप से जारी है। प्रधानाध्यापक माधव पटेल ने बताया कि संस्था का लक्ष्य सभी विद्यार्थियों तक शैक्षिक सहयोग पहुचाना है इस कार्य को सफल बनाने में  डिजिलेप प्रभारी जगपाल सिंह का महत्वपूर्ण योगदान है।

From Around the web