बांदकपुर मंदिर की संपत्ति में हिंदू हित को लेकर.. हिंदू समाज के प्रतिनिधियों ने कलेक्टर, एसपी एवं सासंद के नाम ज्ञापन सौंपा.. इधर सागर आईजी ने दमोह पुलिस के अधिकारियों के साथ बैठक की.. अपराधियों पर सख्त कार्रवाई के दिए निर्देश..

 

 बांदकपुर मंदिर की संपत्ति में हिंदू हित को लेकर कलेक्टर, एसपी एवं सासंद के नाम ज्ञापन सौंपा..

दमोह। बांदकपुर धाम हिंदू धर्म की आस्था का प्रमुख केंद्र है। जिसके विषय में जिले भर से एकत्रित हिंदू समाज ने दमोह सांसद पहलाद पटेल, जिला कलेक्टर एवं दमोह एसपी के नाम ज्ञापन सौंपा। ज्ञापन में प्रमुख मांग हिंदू धर्म के धार्मिक स्थलों पर वहां की संपत्ति जमीन दुकान आदि में हिंदुओ को ही अधिकार लाभ की स्वतंत्रता की बात कही। साथ ही कुण्डपुर में माता रुक्मिणी जी का विषय भी रखा गया। जैसा की अन्य धर्म मत पंथ मैं भी उन्हीं के लोगों को अवसर दिया जाता है। लेकिन बांदकपुर के सुनील डबुलया ने समाज विशेष के अपमान से जोड़कर कुछ दिन पहले केवल व्यक्तिगत आरोप लगाकर पूरे विषय को अलग रंग दिया गया। 
बांदकपुर मंदिर की संपत्ति में हिंदू हित को लेकर.. हिंदू समाज के प्रतिनिधियों ने कलेक्टर, एसपी एवं सासंद के नाम ज्ञापन सौंपा.. इधर सागर आईजी ने दमोह पुलिस के अधिकारियों के साथ बैठक की.. अपराधियों पर सख्त कार्रवाई के दिए निर्देश..

जिसके बाद जिले भर से एकत्रित हिन्दू समाज के साथ राम गौतम ने विस्तार से इसके पीछे के षड्यंत्र का खुलासा किया। जिसमें बताया गया कि सुनील डबुलया घोषित अपराधी है जिस पर कई प्रकरण दर्ज है धारा 110 में दो बार नाम है, आर्म्स एक्ट, विद्युत विभाग में आगजनी, सहित पूर्व थाना प्रभारी हिंडोरिया से मारपीट है। वही इसने बांदकपुर के कई समाजों के लोगों का समय-समय पर अपमान किया है यहां तक की इस व्यक्ति ने स्वयं के समाज के सीधे साधे लोगों को भी सार्वजनिक रूप से अपमानित किया। इसने लाखों रुपए कीमत की बेशकीमती जमीन मात्र 600 प्रतिमाह के किराए पर मंदिर कमेटी से पेट्रोल पंप के लिए ली है जबकि मंदिर कमेटी गरीब सामान्य दुकानदारों को छोटी-छोटी दुकानें लाखों रुपए में दे रही है वही इस अपराधी प्रवृत्ती के व्यक्ति को जो पैसे से बहुत अमीर है कौड़ियों के दाम पर मंदिर की जमीन दी गई है। 
बांदकपुर मंदिर की संपत्ति में हिंदू हित को लेकर.. हिंदू समाज के प्रतिनिधियों ने कलेक्टर, एसपी एवं सासंद के नाम ज्ञापन सौंपा.. इधर सागर आईजी ने दमोह पुलिस के अधिकारियों के साथ बैठक की.. अपराधियों पर सख्त कार्रवाई के दिए निर्देश..

मंदिर के पास इसकी दो तीन मंजिला बिल्डिंग बनी हुई है जो मंदिर की जमीन में है। इसने बांदकपुर में ही लगभग 200 एकड़ पहाड़ की शासकीय गौचर भूमि को अनेक वर्षों तक अवैध रूप से कब्जा करके रखा। इसका सबसे बड़ा अपराध बांदकपुर भोलेनाथ  मंदिर और भोलेनाथ के भक्तों की आस्था का अपमान करते हुए यह व्यक्ति कुछ वर्ष पहले मंदिर के अंदर जाकर वहां रखे नारियल प्रसाद बेलपत्र आदि सामग्री को फेंक दिया गया इतना ही नहीं इसने उस समय वहां मंदिर के कर्मचारियों पूजन करने वाले ब्राह्मणो को भी धमकाया इस प्रकार की घटना हिंदू धर्म का इसके द्वारा किया गया सबसे बड़ा अपराध है। जबकि मन्दिर कमेटी इस प्रकार के आपराधिक व्यक्ति को मन्दिर की संपत्ति का लाभ दे रहा है यह बहुत बड़ा प्रश्न है। ज्ञापन में प्रमाणों की प्रति भी सलग्न की गई।
बांदकपुर मंदिर की संपत्ति में हिंदू हित को लेकर.. हिंदू समाज के प्रतिनिधियों ने कलेक्टर, एसपी एवं सासंद के नाम ज्ञापन सौंपा.. इधर सागर आईजी ने दमोह पुलिस के अधिकारियों के साथ बैठक की.. अपराधियों पर सख्त कार्रवाई के दिए निर्देश..

जिले भर से आये हिन्दू समाज के साथ, हिन्दू युवा वाहिनी अध्यक्ष विक्रांत गुप्ता का विशेष योगदान रहा।जटाशंकर मन्दिर के महंत बम बम मोनू पाठक, बड़ी देवी मन्दिर महंत आशीष कटारे, भगीरथ शास्त्री, छात्र क्रांति दल के कृष्णा पटैल, श्री राधे मंडल, अवध विश्कर्मा, उमाकांत पौराणिक, गोविंद यादव, मानसिंग आदि वासी, राजा मिश्रा, मनोज देवलिया, तोमर पथरिया, धर्मेंद्र नामदेव, सुरेंद्र यादव, कमलेश मिश्रा, हल्ले अहिरवार, मोनू सैनी, अशोक पाठक, निक्की गुप्ता, श्रेयांश खरे, लकी विश्वकर्मा, निशांत चौरसिया, तुलसीराम तिवारी, गोलू चौबे, राजेन्द्र अठ्या, जित्तू अहिरवार, अम्बर मिश्रा, रजनीश तिवारी, सुदामा पटैल, गिरीश नेमा, गोविंद लोधी, दौलत सिंग, कमलेश दुबे आदि की उपस्थिति रही।

आईजी ने अपराधियों पर सख्त कार्रवाई के निर्देश दिए

दमोह। सागर आईजी अनिल शर्मा आज दमोह प्रवास पर रहे इस दौरान उन्होंने सर्किट हाउस पर एसपी डीआर तैनीवार सहित अन्य पुलिस अधिकारियों के साथ बैठक करके महत्वपूर्ण मामलों पर चर्चा की तथा अपराधियों पर अंकुश लगाने के साथ अपराधियों पर नजर रखने निगरानी खोलने जैसे विषयों पर दिशा निर्देश दिए।
 बाद में आईजी श्री शर्मा पुलिस कोतवाली पहुंचे जहां उन्हें पुलिस बल द्वारा गार्ड आफ ऑनर दिया गया वही कोतवाली का निरीक्षण करते हुए अपराध संबंधी जानकारी लेकर पेंडिंग मामलों पर निर्देश दिए अपराधिक तत्वों के खिलाफ मुहिम चलाकर कार्यवाही करने को कहा।

From Around the web