तीरकमान निशान के साथ "हे राम" संबोधन वाली तूफान क्रूजर गाड़ी में नकली नंबर प्लेट लगाकर.. रात के अंधेरे में हो रही थी शराब- गौवंश तस्करी.. इधर राहर के खेत में लहलहा रही थी गांजे की फसल.. सहायक यंत्री की शराबखोरी-भ्रष्ट आचरण से त्रस्त पंचायत सचिव संगठन ने ज्ञापन सौंपा..

 

 कोतवाली पुलिस ने नकली नंबर प्लेट लगी तूफान गाड़ी से शराब पकड़ी, पांच गौंवश को मुक्त कराया

दमोह। कोतवाली पुलिस की लगातार रात्रि गश्त और सक्रियता के चलते अब गोकशी करने वाले छोटे वाहनों में मवेशियों को भरकर परिवहन की कोशिश कर रहे हैं लेकिन बीती रात कोतवाली पुलिस ने फिर सक्रियता दर्ज कराते हुए उनके मंसूबों पर पानी फेर दिया।  तीरकमान निशान तथा "हे राम" लिखी नकली नम्बर की एक तूफान क्रूजर गाड़ी से शराब के साथ गौंवश की तस्करी का मामला सामने आया है। गाड़ी का असली मालिक कोई ब्राह्मण है जिसके द्वारा किसी मुस्लिम को गाड़ी किराए पर दी गई थी इसके द्वारा इसका किस तरह से गाड़ी का दुरुपयोग किया जा रहा था इसका पता नकली नंबर प्लेट के साथ पकड़े जाने के बाद लगा है। 

 सिटी कोतवाली प्रभारी सत्येंद्र सिंह के साथ पुलिस टीम की रात्रि गस्त के दौरान जटाशंकर के पास एक तूफान क्रूजर गाड़ी पुलिस के वाहन को देखकर काफी तेजी व लापरवाही से गाड़ी लेकर भागा। जिसे घेरा बंदी कर पकड़ा गया तो वाहन में 5 गोवंश क्रूरता के साथ बांधे थे। वही गाड़ी की तलाशी लेने पर शराब मिली। गाड़ी में अवैध नंबर प्लेट लगी हुई थी। इस दौरान पकड़े गए एक आरोपी ने पूछताछ पर बताया कि 4 अन्य व्यक्ति थे। जिससे थाने पर धारा धारा (6) 6(क) 9 गौवंश प्रतिषेध अधिनियम पशु क्रूरता अधिनियम, धारा 34(1) आबकारी अधिनियम भारतीय दंड विधान कीधारा463, 465, 468, 471, 482 के अंतर्गत कार्रवाई की गई है।

पथरिया पुलिस ने राहर के खेत से गांजे के 71 पेड़ पकड़े

दमोह। पथरिया थाना क्षेत्र अंतर्गत ग्राम खजरी के टगरहार में एक किसान द्वारा अपने राहर के खेत मे गांजा की खेती की सूचना पर  एसपी डीआर तेनीवार व एएसपी शिवकुमार सिह के निर्देशन में एसडीओपी सुदामा प्रसाद शुक्ला व थाना प्रभारी मथुरा प्रसाद के मार्गदर्शन में गुरुवार को एक पुलिस टीम गठित कर खेत मे छापेमार कार्यवाही की गई। इस दौरान पुलिस को राहर के साथ लगे करीब 3 से 9 फुट लंबे 71 नग गांजा के पेड़ मिलने पर गांजे के पेड़ों को जब्त करके तीन लोगों को पकड़कर कार्यवाही की गई है। 

तीरकमान निशान के साथ "हे राम" संबोधन वाली तूफान क्रूजर गाड़ी में नकली नंबर प्लेट लगाकर.. रात के अंधेरे में हो रही थी शराब- गौवंश तस्करी.. इधर राहर के खेत में लहलहा रही थी गांजे की फसल.. सहायक यंत्री की शराबखोरी-भ्रष्ट आचरण से त्रस्त पंचायत सचिव संगठन ने ज्ञापन सौंपा..

 थाना प्रभारी मथुरा प्रसाद ने बताया कि ग्राम खजरी के टगर हार में किसान राघवेंद्र सिह लोधी के खेत मे राहर की फसल के साथ गांजा के पेड़ लगें होने की सूचना पर गठित टीम द्वारा की गई छापेमार कार्यवाही में पुलिस ने करीब 2 लाख 40 हजार रुपये कीमत के गांजे के 71 पेड़ों को जप्त किया है। मामले में आरोपी राघवेंद्र सिह लोधी, बबलू एवं कल्याण सिंह लोधी सभी निवासी खजरी को गिरफ्तार कर इनके विरुद्ध 8ध्20 एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज किया है। इस कार्यवाही में थाना प्रभारी मथुरा प्रसाद, एसआई आलोक तिलपुड़े, एएसआई संजय सिंह, प्र आर नरेश, आर अनुरुध्द, मनीष पटेल, ओमप्रकाश सहित एनआरएस सदस्यो की मुख्य भूमिका रही।

सहायक यंत्री की शराबखोरी और भ्रष्ट आचरण से त्रस्त पंचायत सचिव संगठन ने ज्ञापन सौंपा

दमोह। जनपद पंचायत दमोह में पदस्थएक सहायक यंत्री के भ्रष्ट आचरण कार्यालय में शराब खोरी करने एवं बिना पैसे की किसी कार्य को नहीं करने से त्रस्त होकर जनपद क्षेत्र के सचिव, सहायक सचिव एवं ग्राम रोजगार सहायकों ने कलेक्टर, जिला पंचायत एवं जनपद पंचायत सीईओ को लिखित हस्ताक्षरित ज्ञापन सौंपकर कार्रवाई की माग की है। वरिष्ठ अधिकारियों के नाम सौंपे गए ज्ञापन में बताया गया है कि दमोह जनपद में पदस्थ सहायक यंत्री जीडी अहिरवार के द्वारा पंचायतो के लिये सोपे गए संपूर्ण कार्य जिनमे टीएस से लेकर मूल्यांकन तक समय पर ना करके रात्रि में कार्यालय खोलकर शराबखोरी करते है। जिस कार्य के पैसे मिलते हैं सिर्फ वही कार्य किया जाता है जो पैसे नहीं देता है अगर वह काम करने की कहता है तो उसके साथ सहायक यंत्री द्वारा गाली गलौज की जाती है।

तीरकमान निशान के साथ "हे राम" संबोधन वाली तूफान क्रूजर गाड़ी में नकली नंबर प्लेट लगाकर.. रात के अंधेरे में हो रही थी शराब- गौवंश तस्करी.. इधर राहर के खेत में लहलहा रही थी गांजे की फसल.. सहायक यंत्री की शराबखोरी-भ्रष्ट आचरण से त्रस्त पंचायत सचिव संगठन ने ज्ञापन सौंपा..

 ज्ञापन में स्पस्ट रूप से लिखा गया कि जीडी अहिरवार के कारण अप्रिय एवं गम्भीर स्थिति बन सकती है। ज्ञापन सौपने वालो में प्रमुख रूप से ग्राम सचिव संघ के अध्यक्ष दिलीप पाठक, राजू यादव, वीर सिंह, सुल्तान, पप्पू इंद्र सिंह, हेमंत पटेल, संजय सिंह सहित कई सचिव रोजगार सहायक रोजगार सचिव उपस्थित रहे। उल्लेखनीय है कि पूर्व में पटेरा पदस्थापना के दौरान सहायक यंत्री को शिकायतों के कारण पटेरा से हटाकर दमोह भेजा गया था। वहीं इनकी कार्यप्रणाली से असंतुष्ट होकर दमोह जनपद पंचायत से अलग करने के संबंध में केंद्रीय मंत्री एवं सांसद प्रहलाद पटेल के कार्यालय से भी अधिकारियों को पूर्व पत्र लिखे गए थे। इसके बावजूद  अधिकारियों से सेटिंग के चलते सांसद कार्यालय से जारी पत्र की अवहेलना करते हुए उनकों हटाने अनदेखी की जाती रही है।

रोजगार सहायक ने अतिरिक्त प्रभार छोड़ने पत्र लिखा

तीरकमान निशान के साथ "हे राम" संबोधन वाली तूफान क्रूजर गाड़ी में नकली नंबर प्लेट लगाकर.. रात के अंधेरे में हो रही थी शराब- गौवंश तस्करी.. इधर राहर के खेत में लहलहा रही थी गांजे की फसल.. सहायक यंत्री की शराबखोरी-भ्रष्ट आचरण से त्रस्त पंचायत सचिव संगठन ने ज्ञापन सौंपा..

दमोह जनपद पंचायत की ग्राम पंचायत भूरी का अतिरिक्त कार्य देख रहे रोजगार सहायक राज कुमार द्वारा इस प्रभार से मुक्त किए जाने के लिए जनपद पंचायत के सीईओ का पत्र लिखकर निवेदन किया गया है। जिससे अंदाजा लगाया जा सकता है कि वर्तमान माहौल में कर्मचारी कितने तनाव में कार्य करने को मजबूर हो रहा है।

From Around the web