सुसाइड नोट में फैशन डिजाइनर नही बन पाने का मलाल..भोपाल में जहर खाने वाले जोशी परिवार की बेटी और दादी की मौत

 सुसाइड नोट लिखकर उठाया आत्मघाती कदम
 
जहर
मप्र की राजधानी भोपाल से आर्थिक तंगी पारिवारिक विवाद के चलते एक ही परिवार के 5 सदस्यों द्वारा जहरीले पदार्थ का सेवन कर लेने और इनमें से दो की मौत हो जाने का दुखद घटनाक्रम सामने आया है मृत्यु पूर्व लिखे गए सुसाइड नोट में एक बेटी ने फैशन डिज़ाइनर नहीं बन पाने का ख्वाब अधूरा रह जाने तथा इसके लिए जिम्मेदार को ब्रह्म राक्षस लिखा है..


राजधानी भोपाल के भेल पिपलानी थाना के अशोक विहार कालोनी में रहने वाले एक परिवार के पांच सदस्यों के द्वारा आर्थिक तंगी के चलते निर्मित होने वाले पारिवारिक तनाव में जीवन लीला समाप्त करने जहरीले पदार्थ का सेवन कर लिया लेकिन समय रहते उपचार मिल जाने से तीन सदस्यों की जान बच गई वही बेटी तथा दादी की जान नहीं बचाई जा सकी।

 आत्मघाती कदम उठाने के पहले परिवार की छोटी बेटी द्वारा लिखे गए सुसाइड नोट में जहां फैशन डिजाइनर बनने की तमन्ना अधूरी रह जाने तथा उसके लिए किसी बबली को जिम्मेदार ठहराने तथा उसे ब्रह्मराक्षस तक बताने और रिश्तेदारों द्वारा मामले में कोई मदद नहीं किए जाने का उल्लेख किया गया है। वही टीचर्स और दोस्तों से थेंक्स और सारी कहा है।

सुसाइड नोट

 बताया जा रहा है कि यह सुसाइड नोट लिखने वाली किशोरी तथा उसकी बुजुर्ग दादी को नहीं बचाया जा सका। अस्पताल ले जाने का दोनों को मृत घोषित कर दिया गया जबकि जहर का सेवन करने वाले परिवार के तीन सदस्यों की हालत में सुधार बताया जा रहा है।

मामले में पिपलानी थाना प्रभारी अजय नायर ने बताया कि अशोक विहार कालोनी निवासी मैकेनिक संजीव जोशी अपनी मां नंदनी,पत्नी अर्चना और दो बेटियों ग्रिशमा और पूर्वी ने पारिवारिक कलह के चलते देर रात चूहा मार जहर खा लिया था। हालत बिगड़ने के बाद सभी को पटेल नगर के गायत्री अस्पताल में भर्ती कराया गय था। जहां बेटी पूर्वी और उसकी दादी नंदनी को नही बचाया जा सका। जबकि अन्य तीन की हालत में सुधार हो रहा  है। पुलिस पर लालपुरी मामले की जांच में जुटी हुई है..

From Around the web