मप्र में कोरोना की तीसरी लहर की दस्तक के पहले.. नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव को लेकर सुगबुगाहट शुरू.. प्रदेश में उपचुनाव के साथ भी हो सकती हैं नगरीय निकाय चुनाव की घोषणा.. ! राज्य निर्वाचन आयुक्त ने की तैयारियों की समीक्षा..

 

राज्य निर्वाचन आयुक्त ने की चुनाव संबंधी समीक्षा 

भोपाल। मप्र में कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर को लेकर देश के महानगरों तथा अनेक प्रदेशों में जहां सतर्कता का माहौल बना हुआ है वहीं मध्यप्रदेश में कम होते कोरोना केसो के साथ लोकसभा और विधानसभा के उपचुनाव के अलावा नगरीय निकाय चुनाव और पंचायत चुनाव कराने सुगबुगाहट शुरू हो गई है। राज्य निर्वाचन आयोग के आयुक्त बसंत प्रताप सिंह द्वारा आज दी गई महत्वपूर्ण बैठक में आगामी नागरिया निकाय चुनाव और उसके बाद पंचायत चुनाव कराए जाने को लेकर समीक्षा की गई।

मप्र में कोरोना की तीसरी लहर की दस्तक के पहले.. नगरीय निकाय और पंचायत चुनाव को लेकर सुगबुगाहट शुरू.. प्रदेश में उपचुनाव के साथ भी हो सकती हैं नगरीय निकाय चुनाव की घोषणा.. ! राज्य निर्वाचन आयुक्त ने की तैयारियों की समीक्षा..

बैठक में राज्य निर्वाचन आयुक्त  बसंत प्रताप सिंह ने  नगरीय निकाय चुनाव की तैयारी समय-सीमा में पूरी करने, निर्वाचन संबंधित शेष कार्यवाही की सूची बनाने और सभी कार्य समय पर करने के निर्देश देकर यह संकेत दे दिए है कि तैयारी पूरी होते ही निर्वाचन की प्रक्रिया प्रारंभ कर दी जायेगी। इस दौरान सभी प्रकार के  कार्यों की समीक्षा कर नई अमिट स्याही क्रय करने के आदेश जल्द जारी करने, नगरीय निकायों में बनने वाले स्ट्राँग रूम में सीसीटीव्ही कैमरे लगवाने की व्यवस्था करने, कोविड अनुकूल व्यवहार का पालन हर स्तर पर करने कहां का है। 

उल्लेखनीय है कि दिनों राज्य सूचना आयुक्त राहुल सिंह ने भी पंचायत चुनाव से पहले सभी उम्मीदवारों की सूची, शपथ पत्र, पंचायत प्रतिनिधियों की जानकारी वेबसाइट पर अपलोड करने के निर्देश दिए थे और कहा था कि पंचायत प्रतिनिधियों के बारे में जानकारी लेना जनता का संवैधानिक अधिकार है, इसलिए पंचायत चुनाव से पहले सभी उम्मीदवारों की सूची सहित शपथ पत्र और जीतने के बाद पंचायत प्रतिनिधि की जानकारी वेबसाइट पर अपलोड करनी होगी।

347 नगरीय निकायों में होना है चुनाव..

नगरीय निकाय चुनावों को लेकर बैठक में जानकारी दी कि प्रदेश में कुल 407 नगरीय निकाय हैं। इनमें से 347 में आम निर्वाचन कराये जाना है। दो चरण में मतदान होगा। प्रथम चरण में 155 और दूसरे चरण में 192 नगरीय निकायों में मतदान कराया जायेगा। महापौर/अध्यक्ष का निर्वाचन अप्रत्यक्ष प्रणाली से होगा। इन 347 नगरीय निकायों में सभी 16 नगर निगम शामिल हैं। कुल 19 हजार 955 मतदान केन्द्र बनाये गए हैं। कुल अभी 60 नगरीय निकायों का कार्यकाल बाकी है। मतदाता सूची का अंतिम प्रकाशन 3 मार्च 2021 को हो चुका है। नगरीय निकायों में मतदान EVM से कराये जायेंगे।

तीन चरण में होंगे पंचायत चुनाव..

नगरीय निकाय चुनाव के अलावा आयुक्त ने कहा कि पंचायत आम निर्वाचन 3 चरण में करवाये जायेंगे। त्रि-स्तरीय पंचायतों में पंच के 3 लाख 77 हजार 551, सरपंच के 23 हजार 912, जनपद पंचायत सदस्य के 6 हजार 833, जिला पंचायत सदस्य के 904, उप सरपंच के 23 हजार 912, जनपद पंचायत अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष के 313 और जिला पंचायत अध्यक्ष एवं उपाध्यक्ष के 52 पदों का निर्वाचन कराया जायेगा।

उपचुनाव के साथ हो सकते है नगरीय चुनाव..?

मप्र मैं खंडवा लोकसभा और तीन विधानसभा के उपचुनाव भी आगामी दिनों में होना है। यदि सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो इनके साथ नगरीय निकाय चुनाव कराने की भी घोषणा हो सकती है। वैसे इस बार निर्वाचन आयोग को उप चुनाव के पहले कोरोना संक्रमण के हालात की बारीकी से समीक्षा कराना होगी क्योंकि मार्च माह में जब दमोह चुनाव की घोषणा हुई थी उस समय किसी को भी यह आशंका नहीं थी की चुनाव प्रचार के दौरान संक्रमण तेजी से पहले का एक नेता कार्यकर्ता है इसकी चपेट में आ जाएंगे।

From Around the web